करण जौहर और शाहरुख खान को लेकर इंदर कुमार की पत्नी ने किए चौंकाने वाले खुलासे, कहा- मेरे पति को

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से नेपोटिज्म का मुद्दा एक बार फिर खुलकर सामने आ गया है। अब बहुत से स्टार ऐसे हैं जो खुलकर इस मुद्दे पर अपनी राय रख रहे हैं। हाल ही में दिवंगत एक्टर इंद्र कुमार की पत्नी पल्लवी ने भी नेपोटिज्म पर अपनी बात कही है। इतना ही नहीं उन्होंने खुले तौर पर करण जौहर और शाहरुख खान का नाम लिया है। उनका कहना है कि उनके पति इंदर कुमार भी नेपोटिज्म का शिकार हुए थे। साथ ही इंडस्ट्री से जुड़ी और भी बातों का पल्लवी ने चौंकाने वाला खुलासा किया। बता दें कि एक्टर इंदर कुमार का कार्डियक अरेस्ट की वजह से 28 जुलाई को निधन हो गया था।

पत्नी पल्लवी ने खोले इंडस्ट्री के राज

इंदर कुमार ने 1990 में फिल्म ‘मासूम’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। हालांकि इंदर कुमार की पहचान हमेशा ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ सीरियल में मिहीर के रोल में की गई। इस शो से इंदर कुमार ने नाम कमाया और फिर बिना किसी सहारे यानी कि बिना किसी गॉडफादर के फिल्म इंडस्ट्री में गए। उन्होंने अपने करियर में कई शानदार फिल्में की और साबित कर दिया कि वो एक बेहतरीन एक्टर हैं। हालांकि उनकी पत्नी ने अब इंदर के स्ट्रगल और नेपोटिज्म पर खुलकर अपनी बात रखी है।

 

पल्लवी ने लिखा कि- आजकल हर कोई नेपोटिज्म पर बात कर रहा है। सुशांत सिंह राजपूत की तरह ही मेरे दिवंगत पति इंदर कुमार ने भी बिना किसी सपोर्ट के इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाई। 90 के दशक में इंदर कुमार अपने करियर के पीक पर थे। मुझे याद है उनके निधन से पहले वो इंडस्ट्री के दो बड़े लोगों से मिलने गए थे क्योंकि उस वक्त वो काम ढूंढ रहे थे।

करण और शाहरुख ने नहीं दिया इंदर को काम

आगे पल्लवी ने लिखा- इंदर करण जौहर के पास गए, मैं भी उनके साथ थी। सभी बातें मेरे सामने हुई। करण जौहर ने तो पहले हमें दो घंटे बाहर इंतजार कराया और इसके बाद उनकी मैनेजर गरिमा बाहर आईं और कहा कि करण अभी बिजी हैं। हमने फिर भी उनका इंतजार किया और जब वो बाहर आए तो उन्होंने कहा कि इंदर तुम गरीमा के टच में रहना अभी तुम्हारे लिए कोई काम नहीं हैं। और इंदर ने उनकी बात सुनी। इसके 15 दिन बाद इंदर ने फोन करके गरीमा से पूछा तो जवाब मिला कोई काम नहीं है और फिर इंदर को ब्लॉक कर दिया गया।

पल्लवी ने लिखा कि ऐसा ही शाहरुख खान के साथ भी हुआ। जब इंदर जीरो के सेट पर शाहरुख से मिलने गए तो शाहरुख ने इंदर को वही कहा जो करण को कहा था। उन्होंने कहा कि मेरे मैनेजर से कॉन्टेक्ट कर लेना। जब इंदर ने शाहरुख की मैनेजर पूजा से फोन कर पूछा तो उन्होंने भी कहा कि अभी यहां काम नहीं हैं। पल्लवी का कहना है कि बॉलीवुड में अपनी जगह बनाना इसलिए मुश्किल होता है क्योंकि यहां टैलेंटड एक्टर्स को काम मिलता ही नहीं। बड़े एक्टर्स उनसे डरते हैं कि कहीं वो उनकी जगह ना ले लें। नेपोटिज्म पर रोक लगनी चाहिए और सरकार को इसके खिलाफ सख्त एक्शन लेना चाहिए।

एक बार फिर उठा नेपोटिज्म का मुद्दा

गौरतलब है कि नेपोटिज्म का मुद्दा हमेशा से बॉलीवुड में गर्माता रहा है। एक्ट्रेस कंगना रनौत ने भी खुलकर नेपोटिज्म पर अपनी बात रखी है। यहां तक की कॉफी विद करण शो में कंगना ने करण जौहर के सामने खुले तौर पर कह दिया था कि वो नेपोटिज्म के फ्लैग बियरर हैं और वो मूवी माफिया हैं। वहीं सुशांत सिंह के निधन के बाद से ये मुद्दा एक बार फिर सामने आ गया है। ऐसा माना जा रहा है कि चूंकि सुशांत एक आउटसाइडर थे और इंडस्ट्री में उनका कोई गॉडफादर नहीं था उन्हें गुटबाजी का शिकार होना पड़ा। इसके चलते ही वो डिप्रेशन में आ गए थे और उन्होंने आत्महत्या कर ली थी।

Leave a Reply